Stalkture
  1. Homepage

#ज hashtag

Posts attached with hashtag: #ज

✌| ਵੀਰ ਡੇਢ ਗੁਰਜਰ  |✌ (@veer_dedha_gurjarr) Instagram Profile Photo
veer_dedha_gurjarr

✌| ਵੀਰ ਡੇਢ ਗੁਰਜਰ |✌

MD. kadir (@kadir.mk) Instagram Profile Photo
kadir.mk

MD. kadir

#जिनमें अकेले चलने  का ोंसला_होता हैं, ीछे  एक दिन  ाफिला होता हैं ।। brother's forever 🥰🥰🥰🥰

👑jaat_group👑 (@jaa8_group) Instagram Profile Photo
jaa8_group

👑jaat_group👑

JAAT GROUP

#जाट👑👑

Sajju GuRjar 31 (@sajju_gurjar_31) Instagram Profile Photo
sajju_gurjar_31

Sajju GuRjar 31

Dream Residency Panipat

ारे__पासे__हनेरा__सी ♠ िवे__जग्दे__रहे ♠ िया__लब्दी__ओना__नू ♠

और ार दोनों िन्दगी में ास होते हैं! किसे का नहीं होता और# प्यार हर किसी से नहीं होता ....💞💞💞

Nirmal Gora JNVU 007⭐️ (@nirmal_gora_jnvu) Instagram Profile Photo
nirmal_gora_jnvu

Nirmal Gora JNVU 007⭐️

#⚔️007⭐️आदत हमारीाब नहीं बस #जिंदगी थोड़ी ॉयल जीते है...

FutureSpeaks (@ifuturespeaks) Instagram Profile Photo
ifuturespeaks

FutureSpeaks

#जितिया _व्रत कब है? हिन्‍दू कैलेंडर के अनुसार जीवित्‍पुत्रिका व्रत अश्विन माह कृष्‍ण पक्ष की सप्‍तमी से नवमी तक मनाया जाता है. इस बार व्रत को लेकर पंडित और पंचांग एकमत नहीं हैं. यही वजह है कि जितिया का व्रत इस बार दो दिन का हो गया है. बनारस पंचांग के अनुसार 22 सितंबर को जितिया व्रत रखा जाएगा और 23 सितंबर की सुबह पारण होगा. वहीं विश्वविद्यालय पंचांग को मानने वाले भक्‍त 21 सितंबर को व्रत रखेंगे और और 22 सितंबर की दोपहर तीन बजे व्रत का पारण करेंगे. यह व्रत 21 सितंबर से लेकर 23 सितंबर तक है. व्रत का मुख्‍य दिन अष्‍टमी 22 सितंबर को है. िथ‍ि और शुभ मुहूर्त अष्‍टमी तिथि प्रारंभ: 21 सितंबर 2019 को रात 08 बजकर 21 मिनट से अष्‍टमी तिथि समाप्‍त: 22 सितंबर 2018 को रात 07 बजकर 50 मिनट तक _की पूजा विधि जितिया में तीन दिन तक उपवास किया जाता है: ा दिन: जितिया व्रत में पहले दिन को नहाय-खाय कहा जाता है. इस दिन महिलाएं नहाने के बाद एक बार भोजन करती हैं और फिर दिन भर कुछ नहीं खाती हैं. ा दिन: व्रत में दूसरे दिन को खुर जितिया कहा जाता है. यही व्रत का विशेष व मुख्‍य दिन है जो कि अष्‍टमी को पड़ता है. इस दिन महिलाएं निर्जला रहती हैं. यहां तक कि रात को भी पानी नहीं पिया जाता है. ीसरा दिन: व्रत के तीसरे दिन पारण किया जाता है. इस दिन व्रत का पारण करने के बाद भोजन ग्रहण किया जाता है.

Uchchhal

...... कभी िसी के साथ मत करना""""" .. क्युकी िसी और ा बनने में ोई ीं है

English Turkish